ज्यादा टेंशन लेने से-

चिंता चिता के समान होती है

चिंता करने के नुकसान-हम लोगो को किसी न किसी वजह से कोई न कोई टेंशन होती है ,और सच तो ये है कि ये टेंशन हर वक्त रहती है। हम चाहे न चाहे टेंशन तो रहेगी। करियर बनाने की टेंशन, एग्जाम पास होने की टेंशन , वो हाँ बोलेंगे या ना , इस बात की टेंशन , बीमारी की टेंशन और न जाने क्या-क्या किस तरह की टेंशन , ख़ैर टेंशन की वजह से होने वाले नुकसान अगर आप जान लें तो शायद आप थोड़ी टेंशन कम कर सकें ,या थोड़ी कम टेंशन लें।

टेंशन से हमारी उम्र कम हो जाती है। वो आपने सुना होगा कि ” चिंता चिता के समान होती है“। ये बात सच है। टेंशन से हमारे स्वास्थ्य को बहुत नुकसान पहुँचता है।

गर्भवती महिला अगर टेंशन ले तो बच्चे के पैदा होने में problem होती है। और बाद में उसकी हाइट में ग्रोथ (growth ) रुक जाती है।

टेंशन से हमारा bp low होता है।

टेंशन से हमारा मेटाबोलिज्म low होता है।

टेंशन से हमारे बाल झड़ने लगते हैं।

टेंशन से आँखों के नीचे काले घेरे बन जाते हैं।

टेंशन से खून की कमी होने लगती है।

टेंशन से किसी काम में मन नहीं लगता है।

टेंशन से हमें नींद ना आने की बीमारी हो जाती है।

टेंशन से पेट संबधी रोग जैसे ,बदहजमी आदि रोग हो जाते हैं।

टेंशन से सरदर्द (माइग्रेन ) हो जाता है।

टेंशन लेने से चेहरे पर मुँहासे निकल आते हैं।

कुल मिलाके टेंशन नहीं लेनी चाहिए। टेंशन लेने से शरीर को सभी रोग आसानी से लग जाते हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!