When Lucknow’s Boy Met Kanpur’s Girl Part -1

दोस्तों ये कहानी जिसमे लिखा है कि कर लो दुनिया मुठ्ठी में जो कि रिलायंस मोबाइल का है उससे इत्तेफाकन सम्बन्ध रखता है ।ये वाक्या 2003 का है जब लोग इंटरनेट इतना ज्यादा use नही करते थे न ही वाट्सएप्प और ना ही कोई और app था जिसका इस वाक्ये से कोई मेल हो पाए ,चलिए शुरू करते हैं-

ये बात उन दिनों की है जब रिलायन्स मोबाइल ने अपना एक रिलाइंस मोबाइल पॉयनियर का आफर निकाला था जिसमे 3500 रुपए में आपको एक मोबाइल हैंडसेट मिलता था और std लोकल कॉल फ्री थी ऐसा भी सुनने में आया कि इससे मिलता जुलता आफर रिलायंस का 500 रुपये में भी आया था बहरहाल हुम् इसमे आपको मोबाइल या उसके गुणों के बारे में नही बताने जा रहे हैं ।

इस ब्लॉग में एक वाक्या है जोकि लखनऊ के एक लड़के का है तो हुआ यूँ कि राहुल (नाम से अपने हीरो को संबोधित कर रहें हैं) ने अपने दोस्तों के साथ जाकर भूथनाथ मार्केट इन्द्रा नगर लखनऊ से एक रिलायंस मोबाइल खरीदा। और फिर दोस्तो के साथ फ़ोन लेने के बाद मन्दिर में जाकर प्रसाद चढ़ाया फिर दोस्तो के साथ मूवी देखने चला गया ।

मूवी देखने के बाद शाम को जब वो टहल रहा था उसके मोबाइल पर एक काल आयी राहुल ने फ़ोन उठाया तो उधर से किसी लड़की की आवाज आई उसने कहा “यार कँहा हो” इसपर मैने पूछा कौन बोल रहा है किससे बात करनी है ।

उसने पूछा आप कौन ?अमित कँहा है ?

राहुल ने कहा ये मेरा फ़ोन है आपको ये नंबर कँहा से मिला तो उसने कहा सॉरी wrong नंबर और फ़ोन काट दिया ।

राहुल ने जिज्ञासा में उसे कॉलबैक करके पूछा आप कौन हो कँहा से बोल रही हो।

तब उस लड़की ने बताया मेरा नाम किट्टी है और मैं कानपुर में रहती हूँ ।

उसके बाद कुछ दिनों तक sms और काल के जरिये बात होती कभी शायरी या कभी हाय हेलो पर बात आगे नही बढ़ रही थी ।फिर 1 महीने बाद राहुल ने सोंचा बात आगे बढ़ानी चाहिए और सोंच के राहुल ने लिटी को काल की।

राहुल -हाय कैसी हो

किट्टी -ठीक हूँ।आप?

राहुल- आपको कॉलबैक इसलिए किया क्योंकि आपकी आवाज बहुत स्वीट है ।

किट्टी ने कहा -थैंक्यू ,आप क्या करते हो?

राहुल-मैं ग्रेजुएशन कर रहा हूँ। और आप?

उसने कहा मैं इंटर में हूँ । किट्टी ने कहा सॉरी वो गलती से काल लग गया था।

राहुल-कोई बात नही इसी बहाने हमारी दोस्ती हो गई।

किट्टी -हाँ बिल्कुल क्यों नही इतनी जल्दी दोस्ती तक पहुंच गए।

राहुल-जो दिल को अच्छा लगे उसे दोस्त बना लेना चाहिए ।आपको इनकार है तो बताइए।

किट्टी – नही-नही , सही कहा आपने वेसे कितने friend हैं आपके ?

राहुल-मेरे कई फ्रेंड है पर खास सिर्फ दो है जो इस वक्त मेरे साथ है ।और आपके ?

किट्टी -मेरे भी कई फ्रेंड हैं पर खास 5 फ्रेंड है ।

राहुल-तो हमे कब मिलवाएंगी अपने दोस्तों से ?

किट्टी – आप दोस्तो से मिलना चाहते है या हमसे ?

राहुल-आप होशियार बहुत हैं आप ही से मिलना चाहता हूँ।

किट्टी – क्यों आपकी कोई गर्लफ्रैंड नही है क्या ?

राहुल- नही कोई गर्लफ्रैंड नही शुरु से boys school में पढ़ा हूँ कभी इंटरेक्शन ही नही हुआ । ये तो आप फ़ोन पर हैं इसलिये बात कर पा रहा हूँ नही तो मैं बात भी न कर पाता ।

किट्टी -ओ तो ये बात है ।ठीक है जब आप कानपुर आओगे तब मिल लेना हमसे और हमारे फ्रेंड से भी।

राहुल- very good पर आपका कोई फ्रेंड या ….तो नही?

किट्टी -नही ,मैं और मेरी फ्रेंड्स बस और कोई नही।

राहुल -मैं आपको पहचानूंगा कैसे?

किट्टी -मेरे बाल बहुत लंबे है ।

राहुल-वो तो सबके होते हैं इनमे क्या खास बात है ।

किट्टी -मेरे बाल ही मेरे पहचान है सबसे लंबे मेरे बाल पैरो तक आते हैं ।

राहुल-ओ wow !चलो देखेते हैं ।

किट्टी -देख लेना ,जब आना तब बताना ok

राहुल -ok , जरूर बताऊंगा

दोस्तों आगे क्या हुआ ये अगले भाग में ,तब तक इस पोस्ट को लाइक शेयर करें धन्यवाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!