Bunty aur Bubbly 2 Movie Review : बिना अभिषेक बच्चन फीकी है बंटी-बबली 2 की कहानी

शाद अली ने 2005 में अभिषेक बच्चन रानी मुखर्जी को बंटी और बबली के किरदार में दर्शकों का मनोरंजन किया था इस फिल्म में अभिषेक ,रानी के अलावा अमिताभ बच्चन भी थे जिन्होंने कमाल का अभिनय किया फिल्म में कजरारे कजरारे सांग स साल का सुपरहिट सांग भी था।कुल मिलाकर फिल्म जबरदस्त थी 15-16 साल बाद यशराज प्रोडक्शन बंटी बबली 2 लेकर आये हैं।

बंटी बबली 2 के डायरेक्टर  वरुण वी शर्मा है ,जिन्होंने बंटी के किरदार में सैफ अली खान को लिया है जो कि उनको भारी पड़ेगा क्योंकि हम बंटी किरदार में अभिषेक बच्चन को देख चुके हैं जो कि बहुत उम्दा था , सैफ ने इस बंटी के किरदार को उतने बढ़िया ढंग से नहीं किया एक्टिंग अपनी जगह है पर चुलबुला पन अपनी जगह है जो अभिषेक बच्चन ने ज्यादा दिखाया था।

खैर अब बात करते हैं फिल्म बंटी- बबली 2 के बाकी स्टार कास्ट की जिसमे बंटी- बबली -2 के कॉन बंटी- बबली हैं सिद्धांत चतुर्वेदी तथा शरवरी वाघ,और अमिताभ बच्चन (दसरथ सिंह) की जगह पंकज त्रिपाठी ( जटायु सिंह ) ने अभिनय किया है।

कहानी

फिल्म की कहानी शुरू होती है एक पार्टी से जिसमे बंटी- बबली के कॉन बंटी- बबली कॉन करते हैं जिसका इल्जाम ओरिजनल बंटी- बबली पर आ जाता है और पुलिस इनसे पूछताछ करके उनको कॉन बंटी- बबली के पीछे लगा देती है। इंजिनियरिंग से पास हुए कुणाल (सिद्धांत चतुर्वेदी) सोनिया और (शरवरी वाघ) इन नए बंटी और बबली को पकड़ने के लिए पुलिस इंस्पेक्टर जटायु सिंह पुराने बंटी और बबली की मदद लेता है। अब नए बंटी और बबली तक ये लोग कैसे पहुंचते हैं बस यही है फिल्म की कहानी जो कि दर्शक कई बार देख चुके हैं ,टाइम पास फिल्म है।

Acting

सैफ अली खान इनकी एक्टिंग ठीक है पर अभिषेक को आप लोग मिस करेंगे ,रानी मुखर्जी की एक्टिंग भी उतनी अच्छी नहीं जितनी की उनकी पिछली फिल्मो में हैं पंकज त्रिपाठी , सिद्धार्थ चतुर्वेदी तथा शरवरी वाघ एवरेज रहे हैं।

अगर आप कॉमेडी फिल्मे देखने के शौकीन है तो ये फिल्म आप देख सकते हो।

Leave a Comment

error: Content is protected !!