X
    Categories: Health

Blood vessels-The secret of longevity

Blood vessels

मनुष्य की दीर्घायु का रहस्य रक्त वाहिकाओं पर निर्भर करता है, रक्त वाहिका अगर स्वच्छ और स्वस्थ हैं तो आप 100 वर्ष या अधिक भी जीवित रह सकते हैं।

शरीर का सिस्टम रक्त परिसंचरण की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। ऑक्सीजन और पोषक तत्वों को आंतरिक अंगों तक पहुंचाना, साथ ही साथ कार्बन डाइऑक्साइड और चयापचय उत्पादों को इकट्ठा करना रक्त परिसंचरण होता है।

बचपन में,नसें साफ होती हैं अंगों का पोषण अधिकतम होता है, उम्र के साथ, हम चलना कम कर देते हैं, और हमारी नसों में गन्दगी जमा होने लगती है यही हमारी ब्लड वेसल को बीमार करने लगती है । साथ ही साथ कुछ हानिकारक आदतें जैसे धूम्रपान, जंक फ़ूड ,ख़राब लाइफ स्टाइल ये सब कारण है रक्त वाहिकाओं को गन्दा तथा बीमार करने के लिए ,हम सबको अपनी रक्त वाहिकाओं को स्वच्छ तथा स्वस्थ रखने के लिए इन ख़राब आदतों को छोड़ देना चाहिए।

‘गंदी’ रक्त वाहिका बिल्कुल जंग से भरे पाइपों की तरह लगने लगते हैं। जब हमारी रक्त वाहिकाओं पर कोलेस्ट्रॉल या अन्य पदार्थ जमा हो जाते हैं, तो दबाव बढ़ जाता है जिससे रक्त में अशुद्धियाँ होती हैं, रक्त परिसंचरण विक्षिप्त होता है ।

 दूषित रक्त वाहिका या ब्लड वेसल हाई ब्लड प्रेसर का मुख्य कारण है। यदि आप अपने रक्त वाहिकाओं को साफ करते हैं, तो आपको जोड़ों में दर्द की शिकायत कम होगी और शरीर ठीक से काम करेगा । रक्त वाहिकाओं को साफ करना आपके जीवन और स्वास्थ्य को अच्छा और लम्बा बना सकता है।

रक्त वाहिकाओं की गंदगी से होने वाली बीमारियाँ

  • Atherosclerosis जिसमें आपकी धमनियों के अंदर ‘प्लाक’ बनने लगता है।नसें अच्छी तरह से काम करना बंद कर देती हैं- छोटी नसें पूरी तरह से बंद हो जाती हैं, और मुख्य नसों में कोलेस्ट्रॉल की उच्च मात्रा मौज़ूद होती है।
  • Ischemia कोरोनरी धमनी की बीमारी है यह कोरोनरी वाहिकाओं में रक्त की कमी के कारण होता है जो वाहिकाओं से अशुद्धियों के कारण विकसित होता है।
  • Heart attack -छाती में दर्द, अचानक सांस फूलते जाना ,सेरेब्रल टिश्यू में रक्त की आपूर्ति में कमी तंत्रिका तंत्र के अंत का कारण बनती है।
  • High Blood Pressure – रक्त धमनियों से रक्त के गुजरने के प्रवाह और ब्लड को पंप करने के लिए दिल द्वारा लगाई जा रही ताकत ,रक्त वाहिकाओं की अशुद्धियां लुमेन के संकुचन और रक्तचाप के बढ़ने का कारण बनती हैं।
  • Varicose veins यह बीमारी ज्यादातर महिलाओं में देखने को मिलती जब नसें फूल फैल जाती हैं। त्वचा की सतह के नीचे उभरती हुई नीली नसें दिखती हैं,इससे शरीर में खून संचार कठिन हो जाता है। यह लगभग हमेशा पैर और पंजों को प्रभावित करती हैं।
  • Venous and arterial Thrombosis- रक्त वाहिकाओं में अशुद्धियों के जमा होने से थ्रोम्बी बनता है और जो मृत्यु कारकों को जन्म देता है, यदि थ्रोम्बस बन जाता है और रक्त में मिल जाता है, तो हृदय में रक्त वाहिकाओं को अवरुद्ध कर सकता है, कार्डियक अरेस्ट हो सकता है, जिसमे 70% से 80% मामलों में रोगी की मृत्यु हो जाती है।

रक्त वाहिकाओं में गंदगी होने के मुख्य लक्षण हैं

  • माईग्रेन
  • याददाश्त कमजोर होना
  • थकान
  • अनिद्रा
  • सेक्स सम्बन्धी दिक्कतें
  • देखने और सुनने में दिक्कत
  • हाई ब्लड प्रेसर
  • एंजाइना पेक्‍टोरिस
  • स्वाँस लेने में दिक्कत
  • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द

इसलिए 30 से 40 वर्ष की आयु के बाद, रक्त वाहिकाओं को 5 साल में कम से कम एक बार साफ करना आवश्यक है।

रक्त वाहिकाओं में अशुद्धियों को इकट्ठा करने की क्षमता होती है, विशेष रूप से वृद्ध लोगों में।  यदि यह खून दूषित हो जाए तो कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं जन्‍म लेने लगती हैं।किडनी और लिवर प्रमुख कार्य खून साफ करना होता है।  

खून साफ करने के उपाय

1 –नींबू का रस ये खून और पाचन मार्ग को साफ कर सकता है। ये एसिडिक होता है, ये खून से विषाक्‍त पदार्थों को साफ करता है। रोज सुबह खाली पेट नींबू पानी पीने से शरीर से दूषित पदार्थ निकल जाते हैं। एक गिलास गुनगुने पानी में आधा नींबू निचोड़कर खाली पेट पीएं।

2 नीम ये एंटीबैक्‍टीरियल होता है। नीम का सेवन खून को साफ करता है। इम्‍युनिटी बढ़ाने में भी नीम लाभकारी होती है।नीम की कोमल पत्तिओं को लेकर पीस ले तथा एक चम्मच पीसी नीम को पानी के साथ खाली पेट लें ।एक हप्ते तक प्रतिदिन सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से खून साफ तथा त्वचा चमकदार होती है।

3 हल्‍दी -हल्‍दी में करक्‍यूमिन नामक तत्‍व है जिसमे एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होता है ,इसलिए खून को साफ करने के लिए हल्‍दी भी कारगर है।एक गिलास गर्म दूध में एक चम्‍मच हल्‍दी डालें। रात को सोने से पहले एक महीने तक हल्‍दी वाला दूध पियें इससे आपका खून साफ होजायेगा।

4 -धनिया -ये भी खून साफ करने लिए जानी जाती है। इसे आप खाली पेट पीस कर पानी के साथ ले।

5 -लौकी -भी खून साफ करने लिए जानी जाती है। सुबह-सुबह लौकी का जूस आप खाली पेटपीजिये ऐसा करने से आपका खून साफ ।

6 -अर्जुन अर्क में ऐसे तत्व होते हैं जो हृदय को उत्तेजित करने में मदद करते हैं। यह कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को कम करके हृदय की मदद भी कर सकता है

इसके साथ -साथ आप अपने आहार में ब्‍लूबैरी, ब्रोकली, चुकंदर और गुड़ भी शामिल करें।इन आहारों में विटामिन सी, ओमेगा 3 फैटी एसिड, कैल्शियम, पोटाशियम और फास्‍फोरस , एंटीऑक्‍सीडेंट गुण मौजूद होते हैं। गुड़ शरीर से खून के थक्‍कों को हटाकर उसे साफ करता है।

uallus.com: We're dedicated to giving you the very best of Experience.
Related Post